Thursday, 8 November 2012

----- ।। महा-भारत ।। -----



                                    नाम किरत करि नाम न होई । नाम धरन धरि नाम न सोई ।।
                                    भू भुवन भूरि भूति भलाई । करित करम करि जस तस पाई ।।

                                " मनुष्य की  ईश्वर से तुलना नाम से नहीं अपितु कर्म से की जाती हैं....." 



       

5 comments:

  1. उत्कृष्ट प्रस्तुति शुक्रवार के चर्चा मंच पर ।।

    ReplyDelete
  2. नाम किरत करि नाम न होई । नाम धरन धरि नाम न सोई ।।
    भू भुवन भूरि भूति भलाई । करित करम करि जस तस पाई ।।

    " मनुष्य की ईश्वर से तुलना नाम से नहीं अपितु कर्म से की जाती हैं....."

    बहुत सुन्दर मनोहर अर्थ पूर्ण प्रस्तुति .

    ReplyDelete
  3. बहुत ही उत्तम विचार |

    कृपया कमेंट से वर्ड वेरिफिकेसन हटा दें |

    ReplyDelete